कोच्चि रिफाइनरी

कोच्चि रिफाइनरी

कंपनी ने प्रारंभिक चरणों से शुरू करते हुए पर्यावरण-संबंधी देखभाल और सुरक्षा के प्रति हमेशा सर्वाधिक ध्यान दिया है. यूनिट्स की डिज़ाइन में विस्तृत गैर-प्रदूषण उपायों को शामिल किया गया है. बीपीसीएल एक आईएसओ 14001 कंपनी है जो पुष्टि करता है कि केआर की पर्यावरण प्रबंधन प्रणालियाँ अंतर्राष्ट्रीय मानकों का अनुपालन करती हैं. केरल में कोच्चि रिफाइनरी ही वह पहला संगठन है जिसे आईएसओ 14001 प्रमाणीकरण प्राप्त हुआ है.

उत्प्रवाही वॉटर ट्रीटमेंट प्रणाली का डिज़ाइन ऐसा है कि ट्रीटमेंट यूनिट द्वारा उन्मुक्त किए गए जल की गुणवत्ता राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और राष्ट्रीय मानकों द्वारा निर्धारित गुणवत्ता स्तरों के अंतर्गत ही रहती है। वास्तव में, कोच्चि रिफाइनरी ही केरल में एक ऐसी पहली औद्योगिक यूनिट है जिसे राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा अंतर्देशी नदियों में साफ़ किए गए जल को उन्मुक्त करने की अनुमति प्राप्त है। बीपीसीएल-केआर ने रिफाइनरी से एसओ 2  उत्सर्जन को कम से कम करने के लिए सल्फर रिकवरी यूनिट्स की स्थापना की गई है। केआर ने परिवेशी वायु गुणवत्ता की नियमित निगरानी के लिए तीन पूरी तरह से स्वचालित, ऑनलाइन और कंप्यूटराइज़्ड एम्बिएंट एयर क्वालिटी मोनिटरिंग स्टेशन्स भी स्थापित किए हैं। फ्लूइड कैटेलिटिक क्रैकिंग (एफसीसी) यूनिट से कणिकीय तत्व उत्सर्जन घटाने के लिए 1985 में एक इलेक्ट्रोस्टेटिक अवक्षेपक चालू किया गया। केआर ही भारत में इस सुविधा की स्थापना करने वाली पहली रिफाइनरी है।

केआर जनवरी 2005 से भारत स्टेज- II आदर्शों का अनुपालन करने वाले ऑटो इंधनों (एमएस और एचएसडी) का उत्पादन करता रहा है, और यह क्षेत्र में नई इंधन गुणवत्ता आदर्शों के क्रियान्वयन से कहीं आगे है। डीज़ल हाइड्रो-डीसल्फ़राइज़ेशन इकाई डीज़ल में में सल्फर कंटेंट को 0.05 डब्ल्यूटी% तक घटाती है और इस प्रकार वाहन एग्जॉस्ट्स से सल्फर उत्सर्जन कम से कम हो जाता है। वर्तमान में एक रिफाइनरी आधुनिकीकरण परियोजना जारी है जिसका उद्देश्य ऑटो-इंधनों को यूरो- III विनिर्देशों के अनुपालन योग्य बनाना है।

सन् 2004-05  में कंपनी के अहातों में वृक्षों, फूल देने वाले पौधों, जड़ी-बूटी संबंधी वृक्षों, आदि की विभिन्न जातियों के 4000 पौधों का रोपण करके एक पर्यावरणीय उद्यान का निर्माण किया गया। अब, पर्यावरणीय उद्यान और साफ़ किया गया उत्प्रवाही जल शैया विभिन्न पक्षियों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं और इन पक्षियों में मौसमी प्रवासी पक्षी भी शामिल हैं।

रिफाइनरी के भीतर वर्षा जल संग्रहण स्कीम्स का क्रियान्वयन पर्यावरण-संबंधी सुरक्षा के लिए एक अन्य परियोजना है। इस सुविधा में इकट्ठे किए गए जल को मेक अप जल के रूप में प्रशीतलन टावर्स की ओर निकाल बाहर किया जाता है।

प्रदूषण नियंत्रण और पर्यावरण-संबंधी प्रबंधन के क्षेत्र में केआर द्वारा लिए गए क़दमों को सम्मानित करने के आशय से कोच्चि रिफाइनरी को विभिन्न पुरस्कार प्रदान किए गए हैं.