BPCL on Renewable Energy

बीपीसीएल उच्चतम मानक के स्वास्थ्य, सुरक्षा, पर्यावरण और संरक्षा स्तर को प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है, एचएसई प्रणाली वर्ष 2007 में कार्यांवित की गई थी।

बीपीसीएल में एचएसएसई विभाग पोषित विकास के सिद्धांतों को अंतर्ग्रहण करने में एक प्रमुख भूमिका निभाता है। और कर्मचारियों, ग्राहकों, ठेकेदारों, सभी हितधारकों और समुदायों का स्वास्थ्य, सुरक्षा सबसे अधिक चिंता का विषय है और हम और हमारे कार्यस्थलों / स्थानों के आसपास प्रतिबद्धता के साथ पर्यावरण संरक्षण को सुनिश्चित करते हैं। इसी तरह, हमारे प्रतिष्ठानों और विभिन्न स्थानों पर अर्थात परिसर डिपो, प्रतिष्ठानों, खुदरा दुकानों और एलपीजी संयंत्रों, एचएसई और एस प्रबंधन प्रणाली कॉर्पोरेट नीति के अनुसार सुरक्षा करते हैं।

  • हमारी प्रतिबद्धता का प्रदर्शन:
    • सुरक्षा, सुरक्षित सुविधाओं को बनाए रखने और काम की परिस्थितियों का रखरखाव करना और उपलब्ध कराना ।
    • यह मानते हुए कि सभी कर्मचारियों के पास स्वरक्षा तथा सुरक्षा और उन कार्यों की जिम्मेदारी है जो बड़े पैमाने पर दूसरों की और समुदाय की रक्षा और सुरक्षा को प्रभावित कर सकता है ।
    • पर्यावरण पर हमारी गतिविधियों के प्रभाव को कम करने के लिए उचित प्रौद्योगिकियों को अपनाना।
  • हम अपना मिशन प्राप्त करने के लिए प्रदान करते हैं:
    • एच एस ई एंड एस उद्देश्यों के योगदान को पहचानकर, सभी स्तरों पर स्पष्ट भूमिकाओं और जिम्मेदारियों को बताना और समय समय पर समीक्षा करना।
    • पर्याप्त संसाधनों का आबंटन।
    • भारतवर्ष में हमारे परिसर और प्रतिष्ठानों में सभी कर्मचारियों में स्वास्थ्य, सुरक्षा, पर्यावरण संरक्षण और स्व सुरक्षा की भागीदारी की भावना का हम पोषण करते हैं।
    • स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरण के मुद्दों पर विचार-विमर्श के लिए उचित मंच बनाना।
  • हमने स्पष्ट उद्देश्यों और लक्ष्यों को स्थापित किया :
    • पर्यावरण पर दुर्घटनाओं की रोकथाम और व्यावसायिक बीमारियों और हमारी गतिविधियों के किसी भी प्रभाव को न्यूनतम करने के लिए हमारे प्रदर्शन में लगातार सुधार लाना।
    • जहां कहीं भी आवश्यक है, बड़े पैमाने पर प्रशिक्षण और अनुभव के आदान-प्रदान और ठेकेदारों, ग्राहकों, टैंक लॉरी चालक दल और जनता के साथ एचएसई की सर्वोत्तम प्रथाओं के माध्यम से उत्तम कार्य करना ।
    • एचएसई निष्पादन में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए मूल्यों और व्यवहार अनुकूल अंतर्विनिष्ट करना।
  • हमारी सभी निष्पादनों पर नजर:
    • एचएसई द्वारा कॉर्पोरेट,एसबीयू मुख्यालय और क्षेत्रों पर कार्य करनेवालों के साथ समय पर संशोधात्मक कार्रवाई के लिए आवधिक निरीक्षण / लेखापरीक्षा किये जाते हैं
  • एचएसएसई भूमिका प्रबंधन के उद्देश्यों में निम्नानुसार कार्य करता है:
    • कार्यस्थल पर "शून्य" विपत्ति
    • शून्य एलटीए, शून्य सड़क दुर्घटनाएं
    • एलपीजी ग्राहकों के परिसर के साथ ही ऑटो एलपीजी स्टेशनों पर शून्य दुर्घटना
    • देश के अधिनियम, कानून, नियम और व्यवस्थापन का पालन
    • पर्यावरण संरक्षण
    • प्रदूषण की रोकथाम
    • ऊर्जा संरक्षण
    • कर्मचारियों का व्यावसायिक स्वास्थ्य, सुरक्षा और संरक्षा
    • संयंत्र अवसंरचना और उपकरण की सुरक्षा और संरक्षा
    • गहन प्रशिक्षण / कार्यशाला / व्यापार सहयोगियों के साथ वार्ता
    • एलटीएस, दुर्घटनाओं, मूल कारणों की पूरी जांचपडताल का विश्लेषण और उसी जानकारी को बताने के लिये
    • जागरूकता अभियान तथा एचएसई नीति कार्यान्वयन
    • कॉर्पोरेट स्थिरता
    • कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व

2007 के दौरान, पर्यावरण में आने वाले बदलावों से लड़ने की परियोजनाओं पर विशेष ध्यान देने के लिए एचएसई में एक पर्यावरण सेल बनाया गया था। बीपीसी पहले से ही कार्बन डिस्क्लोज़र प्रोजेक्ट का सदस्य है जिसे वैश्विक पहचान प्राप्त है। इनके साथ हमने क्लीन डेवलपमेंट मैकेनिज़्म (सीडीएम) संबंधित परियोजनाओं पर कार्य करना शुरू किया है। वर्ष 2006-07 की कॉर्पोरेट निरंतरता रिपोर्ट 2007 के दौरान प्रकाशित की गई थी। 2007-08 के लिए, एचएसई ने वैश्विक रिपोर्टिंग कार्यक्रम मानदंडों पर आधारित कॉर्पोरेट निरंतरता रिपोर्ट पर कार्य किया था जहाँ बीपीसी एकमात्र ऐसा पीएसयू था जिसे इस प्रकार की रिपोर्ट के लिए  ए +रेटिंग मिली थी।

बीपीसीएल स्वास्थ, सुरक्षा वातावरण और सुरक्षा प्रदर्शनों में उच्च मानक हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध है और इनके सुशासन हेतु कारपोरेट एचएसई ने 2007 में एचएसई सिस्टम की स्थापना की थी।