Integrity club

इंटीग्रिटी क्लब

अगर आप में सत्यनिष्ठा है, तो और कुछ भी मायने नहीं रखता। अगर आप में सत्यनिष्ठा नहीं है, और कुछ भी मायने नहीं रखता। - एलन के. सिम्पसन।

इंटीग्रिटी शब्द लैटिन विशेषण ‘इन्टिजर’ से विकसित हुआ जिसका अर्थ है पूर्ण या संपूर्णता । इस संदर्भ में, ईमानदारी और चरित्र की निरंतरता जैसे गुणों में "पूर्णता" पाने की अंदरूनी भावना सत्यनिष्ठता है। जैसे, किसी की सत्यनिष्ठा को परखने के लिए हम देखते हैं कि क्या वे उन मूल्यों, विश्वासों और सिद्धांतों पर खरा उतरते हैं जिनका कि वे दावा करते हैं | सत्यनिष्ठता किसी का एक व्यक्तिगत चयन है जिस पर वह कोई समझौता नहीं करता और यह स्पष्ट तौर पर सम्मान, नैतिकता, आध्यात्मिक और कलात्मक मूल्यों के प्रति सतत प्रतिबद्धता है |

सत्यनिष्ठता कोई ऎसी चीज नहीं है जिसके साथ व्यक्ति जन्म लेता है| यह एक ऎसी समझ है जिसे आप समय के साथ-साथ सीखते और मजबूत करते हैं| यह एक सचेतता पूर्ण चयन है जिसे आप स्वयं के लिए चुनते हैं | कोई भी व्यक्ति आपको सत्यनिष्ठा के गुणों को ग्रहण करने या न करने लिए प्रभावित नहीं कर सकता |

महान नेताओं का अध्ययन बताता है कि सत्यनिष्ठता उनका एक सतत गुण रहा है | अनगिनत नेतृत्व करने वाले रोल मॉडलों के पीछे सत्यनिष्ठता एक स्थिर शक्ति रही है। महान नेता ईमानदार रहते हैं और वही करते हैं जो उचित है चाहे परिस्थितियां कितनी भी प्रतिकूल रहें तथा इस प्रकार के आचरण को अपने जीवन में उतार कर सत्यनिष्ठता का मॉडल बनते हैं |

आज के परिदृश्य में, विशेष रूप से हमारे देश में, बच्चों में ईमानदारी, प्रेम, करुणा, एकता और देशभक्ति जैसे मूल्यों को बच्चों में पैदा कर ऐसा समाज बनाना एक सर्वोत्तम कदम है जो भ्रष्टाचार से मुक्त हो , उच्च नैतिकता का आचरण करता हो तथा अति करुणामयी और जिम्मेदार हो |

भारत मूल्यों और सद्गुणों का देश है। ये महत्वपूर्ण है कि ये मूल्य युवा पीढ़ी आत्मसात करे और इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर बीपीसीएल के सतर्कता विभाग ने विभिन्न स्कूलों में इंटीग्रिटी क्लब को स्थापित करने की पहल की है । बच्चों को देश के भविष्य की महत्वपूर्ण निधि के रूप में पहचानने और समाज में अच्छे मूल्य फैलाने के लिए उनमें अच्छे संस्कारों को विकसित करने के संबंध में यहाँ एक लोकप्रिय मुहावरा प्रयोजनीय है - "जब छोटे हैं तभी ध्यान दें” |

इंटीग्रिटी क्लब 11-16 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों के लिए स्थापित किए जाते हैं । विभिन्न इनडोर और आउटडोर गतिविधियों में बच्चों को शामिल करने के लिए प्रयास किए जा रहें हैं जो उनमें टीम भावना, करुणा, ईमानदारी और समाज के प्रति कर्तव्य की भावना दृढ़ करती हैं | विशेष आयु समूह के बच्चों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए ये गतिविधियां तैयार की गई हैं | इन गतिविधियों को तैयार करने में अभिभावक और स्कूल के शिक्षक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। बच्चों को अपनी राय व्यक्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है और बाहरी गतिविधियों के माध्यम से वे समाज में करुणा, जवाबदेही और अखंडता का संदेश फैलाने के कार्य में लिप्त होते हैं ।

इंटीग्रिटी क्लब के सदस्यों को "आचरण के युवा चैंपियन" (वाईसीसी) कहा जाता है और इस क्लब का लक्ष्य दर्शन "एक विजन के साथ मूल्यों को पिरोकर एक जिम्मेदार और भ्रष्टाचार मुक्त समाज बनाना हैं। नैतिकता के ये युवा चैंपियन देश में मूल्य आधारित संस्कृति को मजबूत करने के लिए बड़े पैमाने पर परिवार, पड़ोस, स्कूल, समुदाय और समाज में मूल्यों का प्रचार करते है।

इसको निवारक सतर्कता की दिशा में सबसे अच्छे कदमों में से एक माना जाता है। इसकी सीवीसी द्वारा अति सराहना की गई है और राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक रणनीति पर मसौदा रिपोर्ट में इसे बताया गया है। वर्तमान में बीपीसीएल कोच्चि रिफाइनरी के आसपास के आठ स्कूलों तथा चेंबूर, मुंबई में एक स्कूल में इंटीग्रिटी क्लब सतर्कता विभाग, बीपीसीएल की देखरेख में कार्य कर रहे हैं।

हमारे साथ अपने विचारों को शेयर करे >>