बीपीसीएल ब्रांड क्विज़ बादशाह - 2018 हुआ एशिया के सबसे बड़े कॉर्पोरेट ब्रांड एंगेजमेंट कार्यक्रम के रूप में एशिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में दर्ज

17 Oct 2018 | बीपीसीएल

बीपीसीएल का मानना ​​है कि हम सबका मन डेल्टा नदी की तरह होता है, जहां भरपूर ज्ञान के लिए बहुत उपजाऊ मिट्टी होती है। संगठन ने इसी बात को ध्यान में रखते हुए जानकारी, ज्ञान, सीखने और ज्ञान की सहायक नदियों को नियंत्रित करने के लिए, जो अपने परिवार के ज्ञान से भरपूर लुब्रिकेटेड दिमाग से निकलती हैं, उन्हें एक मंच पर लाया है, और जिसका नाम है बीपीसीएल ब्रांड क्विज़ बादशाह – 2018। यह प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम ज्ञान में बढ़ोतरी के लिए एक पहल है और कर्मचारियों और चैनल भागीदारों (आरओ डीलरों, एलपीजी वितरक, ल्यूब वितरक) के लिए एशिया का सबसे बड़ा कॉर्पोरेट ब्रांड एंगेजमेंट कार्यक्रम है। इस भव्य आयोजन ने 2018 में 12646 प्रतिभागियों के साथ एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपनी जगह बनाई है।

प्रतिभागी सभी स्ट्रेटिजिक बिज़नेस इकाइयों, संस्थाओं और क्षेत्रों और राज्यों की रिफाइनरियों से थे। इनमें से 6320 प्रतिभागी कर्मचारी थे और शेष 6326 प्रतियोगी चैनल साझेदार थे। ग्रैण्ड फाइनल के लिए 16 प्रतिभागियों के साथ 8 टीम शामिल हैं। बीपीसीएल ब्रांड क्विज़ बादशाह - 2018 ने बीपीसीएल परिवार के ज्ञान को प्रतिबिंबित किया। इस भव्य समारोह का उद्देश्य बीपीसीएल से संबंधित सामान्य ज्ञान का परीक्षण करने के बारे में नहीं बल्कि ब्रांड इक्विटी और जागरूकता को भी बढ़ावा देना था जो पूरे बीपीसीएल परिवार के लिए उपयोगी होगा और इससे बीपीसीएल बिरादरी का समावेशी विकास होगा।

यह क्विज़ कार्यक्रम 26 जून, 2018 से 12 अक्टूबर, 2018 तक आयोजित किया गया था और 5 राउंड का था, जिसमें 2 ऑनलाइन राउंड और 3 लाइव राउंड को मिलाकर कुल 23 शहरों को शामिल किया गया था। हर राउंड में खेल और पुरस्कार के बीच प्रतिभागियों के बीच की स्पर्धा ने चार चाँद लगा दिए। रोमांचक ग्रैण्ड फाइनल बीपीसीएल, मुंबई में 12 अक्टूबर, 2018 को आयोजित किया गया था और यह वेबकास्ट लाइव था।

इस कार्यक्रम में, कर्मचारियों और चैनल भागीदारों के लिए एशिया में सबसे बड़े कॉर्पोरेट ब्रांड एंगेजमेंट कार्यक्रम के रूप में ब्रांड क्विज़ बादशाह को एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स से सम्मानित किया गया। ग्रैण्ड फाइनल के समय श्री अरुण सिंह, निदेशक (विपणन) और श्री के. पद्माकर, निदेशक (एचआर) और श्री एन. प्रभाकर, सीजीएम (ब्रांड और पीआर) के साथ ही बीपीसीएल के कई वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद थे।