About the audit team

लेखा परीक्षा

भारत पेट्रोलियम आंतरिक लेखा परीक्षा आंतरिक नियंत्रण, जोखिम प्रबंधन, प्रशासन और विभिन्न आंतरिक प्रक्रियाओं के परिचालन प्रभावशीलता पर एक स्वतंत्र आश्वासन प्रदान करता है।

विभाग वित्तीय जोखिम और विवरणों से परे देखता है और संगठन से संबंधित मामलों की विस्तृत श्रंखला को शामिल करता है जोकि कारोबार में एक मूल्य जोड़ता है। लेखा परीक्षा मूल्यांकन और लेखा परीक्षा प्रबंधन की प्रक्रिया अनुपालन सहित समग्र शासन के प्रभाव को बढ़ाती है।

व्यावसायिक रूप से अर्हता प्राप्त सीए, इंजीनियर और व्यापार प्रबंधकों के माध्यम से विभाग कार्य करता है। सभी विभागों और कार्यों की समय-समय जोखिम के आकलन के आधार पर लेखा परीक्षा की जाती है।

प्रौद्योगिकी के इष्टतम उपयोग के साथ, हम कारोबारी माहौल में तेजी से हो रहे बदलाव के साथ तालमेल बनाए रखते हैं। हम विकसित और जोखिम रेटिंग, गतिशील अनुपालन निगरानी, बेहतर डेटा एनालिटिक्स, नमूना तकनीक, कुशल लेखा परीक्षा प्रबंधन प्रणाली आदि जैसी केंद्रीय (कोर) गतिविधियों को विकसित तथा बेंचमार्क (मानदंड निर्धारण) करते हैं |



हमारा प्रयास है:

  1. संगठन को स्थायी सहज और उच्च गुणवत्ता आश्वासन देना।
  2. संगठन के नियंत्रण प्रदर्शन और नियंत्रण के माहौल को सुदृढ़ बनाने के लिए उत्प्रेरक के रूप में मान्यता प्राप्त करना।
  3. एक बेहद प्रेरित और व्यस्त कर्मचारी बल का संचालन।
Tools

साधन

लेखा परीक्षा प्रक्रिया मुख्य गतिविधियों के मानदंड निर्धारण (बेंचमार्क) हेतु शक्तिशाली तकनीकी साधनों सहित, लेकिन केवल यहाँ तक सीमित नहीं है, का उपयोग करता है:

  1. बेहतर डाटा एनालिटिक्स
  2. नमूना प्रक्रियाएं
  3. निगरानी निरंतरता
  4. जोखिम रेटिंग
  5. कुशल लेखा परीक्षा प्रबंधन
Objectives

उद्देश्य

बीपीसीएल आंतरिक लेखा परीक्षा के मुख्य उद्देश्य इस प्रकार हैं –

  • सभी संगठनात्मक प्रथाओं में लगातार और निर्बाध गुणवत्ता के स्तर को बनाए रखना।
  • संगठन के नियंत्रण प्रदर्शन और पर्यावरण को उत्प्रेरित और सुदृढ़ करना ।
  • उत्कृष्टता की दिशा में कर्मचारियों को लगाना और प्रेरित करना ।